कन्हैया कुमार को बिहार कांग्रेस का अध्यक्ष बनाएंगे राहुल गांधी!

राजनीतिक संकट से जूझ रही बिहार कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा के इस्तीफे की पेशकश के बाद नए अध्यक्ष के नाम को लेकर अटकलों का बाजार गर्म है. लगभग 4 सालों तक बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष पद पर बने रहे मदन मोहन झा ने शुक्रवार को दिल्ली से पटना पहुंचने पर कहा कि गुरुवार को उन्होंने राहुल गांधी से मुलाकात की थी. मदन मोहन झा ने नपी तुली प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए कहा कि कांग्रेस के संविधान में इस्तीफा देने की कोई परंपरा नहीं रही है. 6 महीने पहले ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया था और एक बार फिर उन्होंने इस्तीफे की पेशकश कर दी है; अब आलाकमान के फैसले पर सब कुछ निर्भर करता है. उधर पार्टी सूत्रों की मानें तो राहुल गांधी की इच्छा के अनुसार अगर फैसला लिया गया तो बिहार में कांग्रेस की सियासत में बड़ा परिवर्तन देखने को मिल सकता है. सूत्र बताते हैं कि बिहार में कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी की पहली पसंद कन्हैया कुमार हैं.

 

राजनीतिक जानकारों के अनुसार बिहार में राजद और कांग्रेस की राहें फिलहाल अलग-अलग हैं और इसका एक बड़ा कारण कन्हैया कुमार का कांग्रेस में आना भी है. कन्हैया कुमार भूमिहार जाति से आते हैं और पार्टी का मानना है कि अगर भाजपा को चुनौती देनी है तो कन्हैया युवाओं में ऊर्जा और जोश भर सकते हैं. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तारिक अनवर की मानें तो बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए नये चेहरे की जरूरत महसूस की जा रही है और अध्यक्ष पद के लिए रेस में कई नाम बने हुए हैं.

तारिक अनवर का मनाना है कि विधान परिषद में दल के नेता मदन मोहन झा ने इस्तीफे की पेशकश कर बिहार में नया अध्यक्ष बनाए जाने का रास्ता भी साफ कर दिया है. कांग्रेस नेता के अनुसार पार्टी आलाकमान बिहार कांग्रेस के अध्यक्ष पद के लिए कई नामों पर विचार कर रहा है और उचित समय पर फैसला भी लिया जाएगा. हालांकि, तारिक अनवर कोई एक नाम की बात बताने को लेकर किसी भी प्रकार का बयान देने से बच रहे हैं.

 

पार्टी सूत्रों का मानना है कि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद पर मुसलमान होगा या दलित या भूमिहार या फिर ब्राह्मण, किसी जाति-समुदाय के कांग्रेस नेता को भी इस पद के लिए चुना जा सकता है. सूत्रों के अनुसार दलितों में सबसे ऊपर लोकसभा अध्यक्ष मीरा कुमार का नाम है. अगर मीरा कुमार अध्यक्ष चुनी जाती हैं तो वह बिहार कांग्रेस की पहली महिला प्रमुख के तौर पर जानी जाएंगी. अन्य दलित नेताओं में विधायक राजेश कुमार और विधायक दल के पूर्व नेता अशोक राम के नाम भी लिए जा रहे हैं.

 

वहीं, अगर मुस्लिम समुदाय की बात कर ली जाए तो शकील अहमद खान का नाम सबसे ऊपर चल रहा है. शकील अहमद खान फिलहाल पार्टी के विधायक होने के साथ ही राष्ट्रीय सचिव भी हैं. इसी के साथ ही कन्हैया कुमार के नाम को लेकर भी कांग्रेस के भीतर सियासी चर्चा आम है. वैसे नामों को लेकर चल रही अटकलों के बीच अध्यक्ष पद की जिम्मेवारी किस एक नाम को मिलती है, इस पर सबकी निगाहें टिकी हैं.

Leave a Comment