खरना कर छठ व्रतियों ने की छठी मैया की पूजा, आज देंगी अस्ताचलगामी सूर्य को अ‌र्घ्य

सूर्य उपासना का चार दिवसीय महापर्व चैती छठ के दूसरे दिन बुधवार शाम छठ व्रतियों ने खरना पूजन किया। इसके साथ ही 36 घंटे का निर्जला उपवास शुरू हो गया। गुरुवार को भगवान सूर्य को संध्या और शुक्रवार को सुबह का अर्घ्य दिया जाएगा।

इससे पूर्व छठ व्रतियों ने मिट्टी के चूल्हे पर आम की लकड़ी के जलावन से गेहूं की रोटी व साठी चावल की गूड़ व दूध निर्मित खीर अपने हाथो तैयार किया। इस दौरान व्रती बीच-बीच में छठ गीतों को गुनगुनाती रहीं। व्रती प्रसाद तैयार करने के बाद केला के पत्तल पर गेहूं की रोटी, खीर व केला से भोग लगाकर पूजा-अर्चना की। पूजा संपन्न होने के बाद अपनों में प्रसाद वितरित करने के बाद स्वयं प्रसाद को ग्रहण किया। इससे पहले छठ की खरीदारी के लिए पूरे दिन बाजार में चहलपहल रही।

Leave a Comment