डॉक्टर… इंजीनियरिंग.. या सिविल सर्विसेज नहीं! पत्रकार बनना चाहती हैं, बिहार की स्टेट टॉपर रामायणी

मासूम चेहरे में इस बहन को देखिए ! बिहार के औरंगाबाद ज़िला की रामायणी। इस बार की मैट्रिक परीक्षा में बिहार स्टेट टॉपर… ये एक साधारण छात्रा नहीं बल्कि साधक है। पूर्ण अंक से मात्र 13 अंक कम आना, साधारण मेहनत से संभव नहीं है। इसके लिये लक्ष्य को केंद्रित रखकर रामायणी ने कठिन साधना की होगी।

रामायणी ने आज बताया कि आगे चलकर वो पत्रकार बनना चाहती है। पत्रकार बनने के पीछे वज़ह बस यह है कि उन्हें गरीबों की आवाज़ पूरे दुनिया को सुनानी है। रामायणी के हौसलों को सलाम है, आप आज के छात्रों के लिये प्रेरणा है।

 

और हाँ ! रामायणी ने जब मीडिया को बताया वो आगे पढ़कर, पत्रकार बनना चाहती है.. तब मुझे इसकी उम्मीद नहीं थी। मेरा पूर्वाग्रह था, डॉक्टर, इंजीनियर या सिविल सर्विसेज जैसे कुछ लक्ष्य होंगे रामायणी के… लेक़िन इन्होंने जब कहा कि पत्रकार बनना चाहती हूँ। यह सुनते ही मुझें रामायणी में कुछ अलग जज़्बा दिखा.. मुझे पूर्ण विश्वास है, ऐसी साधिका अगर पत्रकार बनेगी तो निश्चित ही पत्रकारिता धर्म का पालन करेगी और राष्ट्रहित में लिखेगी।

Leave a Comment