तेजप्रताप यादव ने चाचा नीतीश कुमार के लिए खोला दरवाजा, पोस्ट किया खास मैसेज

बिहार की सियासत कब कैसे करवट ले, यह कहना मुश्किल होता है. एक तरफ जहां जेडीयू और बीजेपी के बीच सियासी बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रहा है तो वहीं आरजेडी की तरफ से लालू प्रसाद यादव के बड़े लाल तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया पर नीतीश की एंट्री की बात कहकर सियासत गरमा दी है. रामनवमी के मौके पर लालू के बड़े लाल तेजप्रताप यादव ने सोशल मीडिया पर ट्वीट करते हुए लिखा कि रामनवमी के मौके पर बहुत जरूरी, ENTRY, नीतीश चाचा.

 

तेजप्रताप के द्वारा सीएम नीतीश कुमार के लिए लिखे गए इस शब्द के सियासी मायने निकाले जाने लगे हैं. राजनीतिक विश्लेषको का मानना है कि तेजप्रताप की सियासत का अंदाज बिल्कुल अनूठा है. मौके को समझते हुए कोई भी कदम उठा सकते हैं. बिहार के मौजूदा राजनीति में जिस तरह एनडीए के बीच गतिरोध जारी है उसे देखते हुए तेजप्रताप यादव ने नीतीश कुमार के लिए इस शब्द के जरिये दरवाजे खोलने के संकेत दे रहे हैं, हालांकि नीतीश कुमार का आरजेडी के साथ गठबंधन को लेकर तेजस्वी यादव ने अब तक कोई बात नहीं कही है.

तेजप्रताप ने पहले लगाया था नो एंट्री का बोर्ड

आज भले ही लालू के बड़े लाल तेजप्रताप यादव नीतीश कुमार के इंट्री के लिए दरवाजा खुले होने की बात कह रहे हों पर कुछ साल पहले जब नीतीश कुमार की आरजेडी से नजदीकी बढ़ी और दोनों के गठबंधन कि चर्चा परवान पर थी तो तेजप्रताप यादव ने राबड़ी आवास के बाहर नो एंट्री का बोर्ड लगाने की बात कहकर हंगामा खड़ा कर दिया था. तेजप्रताप यादब ने कहा था कि 10 सर्कुलर रोड जो राबड़ी देवी को आवंटित है, जहां लालू का पूरा परिवार रहता है वहां नो एंट्री फ़ॉर नीतीश चाचा का बोर्ड लगाऊंगा. अब तेजप्रताप ने इंट्री नीतीश चाचा की बात कह रहे हैं.

तेजप्रताप की बातों पर बीजेपी का तंज

तेजप्रताप यादव के नीतीश कुमार के इंट्री की बात पर बीजेपी ने तंज कसते हुए निरर्थक बताया. बीजेपी प्रवक्ता राम सागर सिंह ने कहा कि तेजप्रताप की बातों को बहुत सीरियस लेने की जरूरत नहीं है. तेजप्रताप की बातों को जब उनके परिवार में ही सीरियस नहीं लिया जाता तो बाहर कौन सीरियस लेगा. तेजप्रताप समय-समय पर ऐसी बाते करते रहते हैं.

Leave a Comment