पत्नी के आशिक को करता था ब्लैकमेल, सुपारी देकर करवा दी पति की हत्या

पत्नी और उसके प्रेमी को जब पति ने ब्लैकमेल करना शुरू किया, तो पत्नी और प्रेमी ने कॉन्ट्रैक्ट किलरों से गला रेतवा कर पति की हत्या करवा दी. यह मामला बाढ़ अनुमंडल के भदौर थाने का है. मामले का खुलासा करते हुए एएसपी अरविंद प्रताप सिंह ने बताया कि 26 मार्च को भदौर थाना के खजुरार खंदा में अज्ञात युवक का शव पुलिस ने बरामद किया था. उसकी गला रेतकर हत्या की गई थी. मृतक की पहचान भी नहीं हो पा रही थी. एएसपी ने बताया कि मामला दर्ज करने के बाद जब टेक्निकल टीम के साथ जांच शुरू की गई तो मालूम चला कि नालंदा के चंडी थाना में राजीव कुमार नामक युवक के लापता होने की सूचना दर्ज करवाई गई है. मृतक की शव को देखकर परिजन पहचान गए और जब पुलिस ने मृतक की पत्नी से पूछताछ किया तो सभी मामलों से पर्दा हटना शुरू हो गया.

 

एएसपी अरविंद प्रताप सिंह के मुताबिक, पूछताछ में पत्नी शोभा ने बताया कि बच्चों को पढ़ाने के लिए वह नालंदा में ही रहती थी. वहीं उसे संजीव से प्रेम हुआ और दोनों के बीच शारीरिक संबंध बन गया. पति राजीव दिल्ली में काम करते थे, पर दो-तीन साल पहले उन्हें अवैध संबंध की जानकारी हो गई थी. जानकारी के बाद वे शोभा के प्रेमी से बराबर पैसों की मांग करने लगे.

 

दोनों ने मिल कर हत्या करवा दी

ब्लैकमेलिंग से तंग आकर शोभा और उसके प्रेमी संजीव ने कॉन्ट्रैक्ट किलर को 60 हजार रुपए दिए और उसने गला रेतकर राजीव की हत्या कर दी. कॉन्ट्रैक्ट किलरों से संजीव को मिलवाने का काम उसके दोस्त अटल कुमार ने किया था. इन अभियुक्तों ने पुलिस को बताया कि वारदात वाले दिन भाड़े के हत्यारे झांसा देकर राजीव को बाढ़ ले गए. वहां उसे दिन भर भटकाते रहे और भदौर थाना अंतर्गत खजुरार ले जाकर उसकी हत्या कर दी.

 

नालंदा में दर्ज हुआ गुमशुदगी का मामला

राजीव के परिजन ने राजीव की गुमशुदगी का मामला नालंदा जिले के चंडी में दर्ज करवाया था. परिजनों से जब भदौर थाने ने संपर्क किया तो राजीव की पहचान हुई.

 

3 हत्यारों की तलाश

एएसपी अरविंद प्रताप सिंह ने बताया कि पूरी वारदात में कुल 6 लोग शामिल हैं, जिनमें पत्नी, प्रेमी और सहयोगी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. बाकी तीनों की पहचान हो गई, जिनकी गिरफ्तारी के लिए छापेमारी जारी है.

Leave a Comment