लाउडस्पीकर पर अजान, रामनवमी व हनुमान जयंती पर पथराव, धर्मशास्त्र पर बोले CM नीतीश

बिहार के बोचहां उपचुनाव में सत्ताधारी बीजेपी को करारा झटका लगा है. बड़े अंतर (36 हजार मतों से) से बीजेपी प्रत्याशी की हार हो गई और राजद जीत गया. अब इस मामले में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है. सोमवार को जनता दरबार कार्यक्रम के बाद सीएम नीतीश कुमार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बोचहां उपचुनाव में हार की वास्तविक वजह क्या रही, पूरे मामले पर क्या हुआ इसकी जानकारी हमें नहीं है . भारतीय जनता पार्टी से इस मामले पर भी बातचीत नहीं हुई है. जनता मालिक है जनता जिस को वोट दें. उपचुनाव में हार कोई खास नही नहीं. इसके पहले दो सीटों पर हुए उपचुनाव में एनडीए कैंडिडेट की जीत हुई थी. वहीं, सीएम नीतीश कुमार ने देश भर में अजान और लाउडस्पीकर विवाद के बीच रामनवमी व हनुमान जयंती शोभा यात्रा के बाद बिगड़े सांप्रदायिक माहौल पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी.

 

अजान में लाउस्पीकर व सांप्रदायिक सौहार्द पर सीएम नीतीश ने कहा कि हमारे यहां इस तरह की कोई बात नहीं. इस मामले में पूरे तौर पर एक्टिव रहते हैं. कहीं कोई विवाद नहीं है. सीएम ने कहा कि बिहार में जब से काम करने का मौका मिला है दो समुदाय के लोगों में विवाद को खत्म किया है. पुरानी सरकार में यह बहुत होता था.बिहार में आपस में टकराहट न के बराबर है. कोई किसी भी धर्म और मजहब का हो आपस में प्रेम और भाईचारा रखना चाहिए. जो विवाद करता है यह मान लेना चाहिए उसे धर्म से कोई लेना-देना नहीं.

 

मुख्यमंत्री ने इसी बातचीत में प्रशांत किशोर और सोनिया गांधी की मुलाकात पर भी अपनी प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा कि प्रशांत किशोर से हमारा तो पहले से संबंध है. पहले भाजपा के साथ थे, बाद में हमारे साथ आये. वह जहां भी जा रहे हैं वह उनका व्यक्तिगत फैसला है. हम से उनका संबंध दूसरा है. यदि हम से बातचीत होगी तो हम हाल चाल पूछ लेंगे.

 

कोरोना संक्रमण को लेकर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पूरी तरह अलर्ट है. लगातार जांच चल रही है जो भी जरूरत होगा जो भी कार्रवाई होगा की जाएगी. भीषण गर्मी को देखते हुए भी विभाग को अलर्ट पर रखा गया है. संक्रमण के चौथे लहर पर सीएम नीतीश कुमार ने कहा कि हम मीडिया से भी अपील करते हैं कि लोगों को जागरूक करिए. दिल्ली में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की सूचना मिली है.

 

शत्रुघ्न सिन्हा के पश्चिम बंगाल से उपचुनाव में जीत पर उन्होंने कहा कि बिहारी बाबू और बंगाली बाबू में फर्क क्या है सभी लोगों को हिंदुस्तानी बाबू हो जाना चाहिए. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने विशेष राज्य का दर्जा की मांग पर कहा कि यह सब चीज तो लगातार कई सालों से है, जब भी जरूरत पड़ती है हम बताते रहते हैं. इसे अभी मुद्दा बनाने से अभी कोई फायदा नहीं है.

Leave a Comment