चिराग के बहाने मुकेश सहनी का बीजेपी पर हमला- उसकी नीति ’यूज एंड थ्रो’ की, उसने तो पासवान की पत्‍नी को भी नहीं छोड़ा

विकासशील इंसान पार्टी के प्रमुख और पूर्व मंत्री मुकेश सहनी ने चिराग पासवान के बहाने अपना दर्द भी बयां किया। भारतीय जनता पार्टी (BJP) को घेरते हुए कहा कि उसकी नीति ही ’यूज एंड थ्रो’ की रही है। मेरी बात छोड़ दीजिए, उसने तो जिस रामविलास पासवान को पद्म पुरस्कार से सम्मानित किया था, उनकी ही पत्नी को बेइज्जत कर घर से बाहर निकाल दिया। उसने पिछले विधानसभा चुनाव में चिराग पासवान को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी के खिलाफ इस्तेमाल किया, लेकिन अब प्रताड़ित कर रही है।

पासवान की पत्‍नी व बेटे को बेइज्‍जत कर बेघर किया

मुकेश सहनी ने कहा कि चिराग पासवान के पिता राम विलास पासवान आज भी दलितों के दिलों में बसते हैं, लेकिन उनके पुत्र और उनकी पत्नी को केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार (Narendra Modi Government) ने बेघर कर दिया। चिराग पासवान खुद कह रहे हैं कि उन्हें तो घर खाली करना ही था, लेकिन बेइज्जत कर घर बाहर निकाला गया। रामविलास पासवान की तस्वीर तक घर के बाहर फेंक दी गई। बीजेपी को संत कबीर के दोहे के जरिए नसीहत देते हुए मुकेश सहनी ने कहा, ‘तिनका कबहूं ना निंदिये, जो पांव तले होय। कबहूं उड़ आंखों में पड़े, पीर घनेरी होय।’

 

पहले यूज करते, बाद में हक मांगने पर फेंक देते हैं

मुकेश सहनी ने कहा कि हमारे साथ क्या हुआ, यह भी सबको पता है। जो सत्ता तक पहुंचने के लिए किसी काे यूज करते हैं और बाद में जब वे अपना हक मांगते हैं तो फेंक देते हैं, उन्‍हें जनता सबक सिखाएंगी।

 

राजनीति की दिशा तय करेगा बोचहां का उपचुनाव

मुकेश सहनी ने विधानसभा उपचुनाव में वीआईपी प्रत्याशी डॉ. गीता कुमारी की जीत का दावा करते हुए कहा कि यह चुनाव बिहार की राजनीति की दिशा तय करेगा। साथ हीं सियासत में मछुआरों और अति पिछड़ों की हिस्सेदारी का भी फैसला करेगा।

Source : Dainik Jagran

Leave a Comment