पति ने 4 साल तक बंधक बनाकर रखा, 27 साल की पीड़िता 55 की दिखने लगी; अब पटरी पर लौटने लगी जिंदगी

चार महीने पहले अपने पति की कैद से आजाद होने वाली सोनिया की जिंदगी अब पटरी पर लौटने लगी है. सोनिया को उसके पति और ससुरालवालों ने चार साल से बंधक की तरह रखा था. उसे भरपेट खाना तक नहीं दिया जाता था. इसके चलते सोनिया TB की बीमारी की चपेट में आ गई. वह चलने-फिरने में लाचार हो गई और बिस्तर पकड़ लिया था.

 

हालात इस कदर हो गए कि 27 साल की सोनिया 55 साल की दिखने लगी थी. लेकिन, चार महीने पहले सोनिया की मां उसे अपने घर ले आई और पुलिस में शिकायत दर्ज कराई. मायके में रहकर सोनिया की हालत सुधर रही है. अब वो चलने-फिरने लगी है. अपने काम खुद कर लेती है. गौरतलब है कि सोनिया के पति गुलफाम खान ने पत्नी को प्रताड़ित करने की हदें पार कर दी थीं. उस पर जुल्म ढाए और चार साल तक ऐसे रखा, जैसे अपहरण करके लाए हों.

ससुराल में दयनीय हो गई हालत

इतना ही नहीं, ससुरालवालों ने बहू को भरपेट खाना तक नहीं दिया. वह अपनी उम्र से कई गुना बड़ी उम्र की औरत दिखाई देने लगी. प्रताड़ना सहते-सहते एक दिन उसके शरीर ने जवाब दे दिया और उसे टीबी (टयूबर क्यूलेसिस) हो गई. इसके बाद सोनिया से नहीं रहा गया और उसने अपने परिजनों को पूरी बात बता दी.परिजन तुरंत ग्वालियर के बहोड़ापुर पुलिस थाने पहुंचे और शिकायत की. महिला की शिकायत पर पुलिस ने पति के खिलाफ दहेज एक्ट का मामला भी दर्ज कर लिया.

 

पार कर दी प्रताड़ना की हद

बता दें, ग्वालियर के रामजी का पूरा इलाके में रहने वाली सोनिया की शादी एक जनवरी 2018 को गुलफाम खां के साथ सम्मेलन से हुई थी. सास ने दामाद गुलफाम को दहेज में एक बाइक दी. बाद में गुलफाम ने बाइक बेच दी और सोनिया पर मायके से दूसरी गाड़ी लाने का दबाव बनाने लगा. उसने इस बात से इनकार किया तो पति उसे पीटने लगा. धीरे-धीरे पति ने सोनिया को प्रताड़ित करने की सारी हदें पार कर दीं. सोनिया को सुबह उस वक्त कमरे से निकाला जाता, जब घर का काम होता. सारे काम खत्म होने के बाद फिर कमरे में बंद कर दिया जाता. करीब साढ़े तीन साल से  सोनिया इसी तरह प्रताड़ित हो रही थी. शादी के बाद सोनिया ने एक बेटी और फिर एक बेटे को जन्म दिया.

Leave a Comment